Write in shorthand – Why do you think he is aware of the likely failure of the firm? If he were aware of the date, he would, I think, have come with us.
pacifies, voicing, rising, poison, poisonous,toilsome, Less, slums,leslie, shame,shameless, shamelessly, slums, lays, slays, face, oars, soars, facing, excusing, refusing, spacing, basin, dozen, resigns, hope, hopeless, hopelessly, consul, pencil, fossils.




आशुलिपि

ध्वनि के माध्यम से निकलने वाले शब्दों को लिखने के लिए जिन संकेतों एवं चिन्हों का प्रयोग किया जाता है उसे लिपि कहा जाता है। जितनी जल्दी हम सुन सकते हैं, उतनी जल्दी लिख नही सकते। इसके लिए कुछ ऐसी संकेत लिपियों का विकास किया गया जिनके संकेत व चिन्हों के माध्यम से हम उतनी ही गति से लिख सकते हैं, जितनी गति से हम शब्दों को सुन व समझ सकते हैं। ऐसे सूक्ष्मतम संकेतों व चिन्हों को आशुलिपि कहा जाता है।

New Playlist 60 wpm





  1. 60 wpm
  2. 60 wpm
  3. 60 wpm
  4. 60 wpm
  5. 60 wpm
  6. 60 wpm
  7. 60 wpm
  8. 60 wpm
  9. 60 wpm
  10. 60 wpm
  11. 60 wpm
  12. 60 wpm
  13. 60 wpm
  14. 60 wpm
  15. 60 wpm
  16. 60 wpm
  17. 60 wpm
  18. 60 wpm
  19. 60 wpm
  20. 60 wpm
  21. 60 wpm
  22. 60 wpm
  23. 60 wpm
  24. 60 wpm
  25. 60 wpm
  26. 60 wpm
  27. 60 wpm
  28. 60 wpm
  29. hindi dictation for shorthand practice
  30. hindi dictation for shorthand practice
  31. shorthand dictation 320 words
  32. hindi shorthand dictation
  33. hindi dictation
  34. hindi shorthand dictation
  35. hindi shorthand dictation test
  36. 400 words hindi dictation
  37. 400 words hindi dictation
  38. 400 words hindi dictation
  39. 400 hindi dictation
  40. 400 words hindi dictation 60wpm
  41. 400 words hindi dictation – election
  42. 400 words hindi dictation
  43. 400 words dictation
  44. 400 words hindi dictation – 60 wpm
  45. hindi dictation for shorthand practice
  46. hindi dictation for shorthand practice
  47. hindi dictation for shorthand practice


Play above playlist and improve your shorthand speed
आशुलिपि विभिन्न भाषाओं के लिए विभिन्न प्रणालियों में सीखने के विकल्प आज हमारे सामने हैं। किसी भी प्रणाली में आशुलिपि को सीखा जा सकता है, लेकिन एक अच्छे आशुलिपिक के लिए जरूरी है कि उसके शब्दों व चिन्हों के नियमों का पालन कर लिखा जाय तो गति में तेजी से वृद्धि होगी।

आशुलिपि सीखने के पश्चात गति बढ़ाने के लिए जरुरी होता है, डिक्टेशन लिखकर अभ्यास करना। इसके लिए एक नियत गति से डिक्टेशन बोलने वाला व्यक्ति होना चाहिए, जो कि अधिकांश आशुलिपिकों की समस्या रहती है। इसी समस्या के समाधान के रूप में हमने यहाँ वेबसाइट शुरू की है। जिसमे ६० शब्द प्रति मिनट की गति से लेकर ११० शब्द प्रति मिनट की गति के ऑडियो डिक्टेशन दिए गए हैं। हमारा प्रयास रहेगा कि समय – समय पर नए डिक्टेशन नयी शब्दावलियों के साथ आप तक पहुंचाते रहेंगे।
डिक्टेशन लिखते समय संकेतों की मोटाई और लम्बाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। क्यों कि संकेत के छोटे या बड़े होने पर दूसरा अर्थ हो जाता है। अपनी सुविधानुसार संकेतों को छोटा बड़ा किया जा सकता है, लेकिन संकेतों के रूप और बनावट में समानता होनी आवश्यक है।